Category: Home


  • पूज्यवर के आध्यात्मिक जन्म दिवस पर अनुभूति श्रृंखला  का तीसरा अंक – सरविन्द कुमार पाल  

    31 जनवरी 2023  का ज्ञानप्रसाद सूक्ष्म सत्ता, परम पूज्य गुरुदेव जो जो मार्गदर्शन हमें प्रदान करते हैं हम बड़ी ही श्रद्धा से अपने सहकर्मियों के समक्ष प्रस्तुत कर देते हैं। इसी कड़ी में  हमारी अंतरात्मा निर्देश दे रही है कि  गुरुदेव के आध्यात्मिक जन्म दिवस के अंतर्गत प्रस्तुत की जा रही दिव्य लेख श्रृंखला का […]

    Advertisement

    Continue reading


  • पूज्यवर के आध्यात्मिक जन्म दिवस पर अनुभूति श्रृंखला  का दूसरा  अंक – अंजलि पांडे और अरुण वर्मा

    30 जनवरी 2023  का ज्ञानप्रसाद     आज फिर, कुछ भी लिखने से पहले हम आंवलखेड़ा की उस पावन कोठरी में नतमस्तक होंगें जहाँ दादा गुरु 1926 की वसंत पंचमी वाले दिन 15 वर्षीय बालक श्रीराम से साक्षात्कार करने हिमालय से आये थे। इस लेख के साथ संलग्न किया गया चित्र हमारी  ही सहकर्मी आदरणीय ज्योति […]

    Continue reading


  • अपने सहकर्मियों की कलम से -28 जनवरी 2023 ,4  सहकर्मियों का योगदान  

    सप्ताह  का सबसे लोकप्रिय सेगमेंट “अपने सहकर्मियों की कलम से” लेकर हम अपने समर्पित सहकर्मियों के बीच आ चुके हैं, इसे लोकप्रिय बनाने में सहयोग देने के लिए आपका जितना भी धन्यवाद् करें कम है।अपने सहकर्मियों  द्वारा पोस्ट की गयीं सभी contributions  ही हैं जिन्होंने इस स्पेशल सेगमेंट को  “सबसे  लोकप्रिय” की संज्ञा देने में […]

    Continue reading


  • पूज्यवर के आध्यात्मिक जन्म दिवस पर अनुभूति श्रृंखला  का प्रथम अंक -अरुण त्रिखा 

    26  जनवरी 2023  का ज्ञानप्रसाद “जब मेरे गुरु की शक्ति ने टेक्नोलॉजी की शक्ति को भी पीछे छोड़ दिया”   आज कुछ भी लिखने से पहले हम आंवलखेड़ा की उस पावन कोठरी में नतमस्तक होंगें जहाँ दादा गुरु 1926 की वसंत पंचमी वाले दिन 15 वर्षीय बालक श्रीराम से साक्षात्कार करने हिमालय से आये थे। आइए […]

    Continue reading


  • 1990 के वसंत पर्व में जिज्ञासुओं ने सब कुछ ही उगलवा लिया I

    25  जनवरी 2023  का ज्ञानप्रसाद आज सप्ताह का तृतीय दिन बुधवार है, ब्रह्मवेला का  दिव्य समय है जब ऊर्जा एवं स्फूर्ति  अपने शिखर पर होती है। सोने पर सुहागा तो तब होता है जब दैनिक ज्ञानप्रसाद के अमृतपान से हमारी शक्ति अनेकों गुना बढ़ जाती है और हम  परमसत्ता को बारम्बार नमन करते हुए धन्यवाद् […]

    Continue reading


  • क्या भौतिकवाद ने सच में हमें सुखी और सामर्थ्यवान बनाया है ?(Editable version)

    “क्या भौतिकवाद ने सच में हमने सुखी और सामर्थ्यवान बनाया है ?” यह पुस्तिका परम पूज्य गुरुदेव के 20 पुस्तकों के सेट “क्रांतिधर्मी साहित्य” की एक पुस्तक “परिवर्तन के महान क्षण” पर मूलरूप से आधारित है लेकिन अनेकों sources, ऑडियो /video आदि की भी सहायता ली गयी है I     एक निवेदन इस पुस्तिका को  प्रस्तुत करते […]

    Continue reading


  • अपने सहकर्मियों की कलम से -21 जनवरी 2023  सात सहकर्मियों का योगदान 

    सप्ताह  का सबसे लोकप्रिय सेगमेंट “अपने सहकर्मियों की कलम से” लेकर हम अपने समर्पित सहकर्मियों के बीच आ चुके हैं, इसे लोकप्रिय बनाने में सहयोग देने के लिए आपका जितना भी धन्यवाद् करें कम है।अपने सहकर्मियों  द्वारा पोस्ट की गयीं सभी contributions  ही हैं जिन्होंने इस स्पेशल सेगमेंट को  “सबसे  लोकप्रिय” की संज्ञा देने में […]

    Continue reading


  • अपने सहकर्मियों की कलम से -वर्ष का प्रथम स्पेशल सेगमेंट  

    आज का यह स्पेशल सेगमेंट वर्ष 2023 का प्रथम एपिसोड है। पिछले शनिवार, 7 जनवरी को रामेश्वरम  यज्ञ पर चल रही श्रृंखला के कारण यह  स्पेशल सेगमेंट प्रकाशित न हो पाया था, फ्लो बने होने के कारण लेख शृंखला को बीच में छोड़ना उचित नहीं था। रामेश्वरम यज्ञ पर आधारित 71 पन्नों की pdf पुस्तक  […]

    Continue reading


  • प्रतक्ष्यवाद क्या है ?  

    12 जनवरी 2023 का ज्ञानप्रसाद    “परिवर्तन के महान क्षण” पर आधारित यह ज्ञानप्रसाद लेख “क्रांतिधर्मी साहित्य” को परम पूज्य गुरुदेव ने “मक्खन” का विशेषण दिया है। उसी मक्खन को और अधिक मथने के उपरांत जो ज्ञानप्रसाद प्रस्तुत प्राप्त हुआ है उसे हम बहुत ही श्रद्धा के साथ शांतिकुंज स्थित  गुरुदेव के कक्ष में गुरुसत्ता […]

    Continue reading


  • कल से आरम्भ हो रही लेख श्रृंखला की पृष्ठभूमि-मेरे साहित्य का मक्खन    

    10 जनवरी 2023  का ज्ञानप्रसाद आज सप्ताह का दूसरा दिन सभी सहकर्मियों के  मंगल की  कामना करता हुआ मंगलवार है। परम पूज्य गुरुदेव एवं वंदनीय माता जी से निवेदन करते हैं कि ऑनलाइन ज्ञानरथ गायत्री परिवार के किसी भी सदस्य का कभी भी अमंगल न होने दें और सदैव अपना सुरक्षा कवच प्रदान करते रहें। […]

    Continue reading


  • रामेश्वरम में विरोध के बीच महायज्ञ संपन्न -Editable file  

     रामेश्वरम  में ज्वालादत्त  का संकल्प  दक्षिण भारत में हुए यज्ञ आयोजनों में रामेश्वरम का कार्यक्रम बहुत  बड़ा नहीं था मुश्किल से ढाई तीन हज़ार  लोग आये होंगे लेकिन इसकी तैयारियों से लेकर संपन्न होने तक के संस्मरण एवं अनुभव इतने अधिक हैं कि उनका वर्णन किसी भी प्रकार से ignore नहीं किया जा सकता।  कई […]

    Continue reading


  • रामेश्वरम में विरोध के बीच महायज्ञ संपन्न -pdf फाइल

    यह pdf फाइल Internet Archive पर भी उपलब्ध है। इस फाइल में परम पूज्य गुरुदेव की मथुरा से रामेश्वरम तक की यात्रा का विस्तृत विवरण प्रस्तुत है। रामेश्वरम महायज्ञ में गुरुदेव को कई प्रकार का विरोध का सामना करना पड़ा और सभी विरोधी कैसे हार कर  सहयोगी बन गए, उसका भी बहुत ही रोचक वर्णन […]

    Continue reading


  • यज्ञों पर आधारित लेख श्रृंखला का चतुर्थ  लेख 

    परम पूज्य गुरुदेव ने नरमेध यज्ञ के समापन पर अगले दो वर्षों में 108 स्थानों पर यज्ञ आयोजन का आह्वान किया था लेकिन उनकी शक्ति इतनी दिव्य कि यह संकल्प चार माह में ही पूर्ण हो गया।  सात दशक पूर्व प्राप्त हुई इस सफलता को “यज्ञ आंदोलन” का नाम दिया गया था। आज तो यह […]

    Continue reading


  • यज्ञों पर आधारित लेख श्रृंखला का तृतीय लेख  

    परम पूज्य गुरुदेव का उद्बोधन- ब्राह्मणत्व का आवाहन   उस दिन का अग्रिहोत्र संपन्न होने के बाद आचार्यश्री ने साधकों को संबोधित किया। उस उद्बोधन में “ब्राह्मण धर्म” की व्याख्या और नरमेध के महत्व की चर्चा की। उन्होंने कहा कि हमारे देश की संस्कृति का क्षरण हो रहा है। उसका कारण यही है कि हमारे यहां […]

    Continue reading


  • अपने सहकर्मियों की कलम से -“गुरुदेव के आध्यात्मिक जन्म दिवस का reminder”  

    सप्ताह  का सबसे लोकप्रिय सेगमेंट “अपने सहकर्मियों की कलम से” लेकर हम अपने समर्पित सहकर्मियों के बीच आ चुके हैं, इसे लोकप्रिय बनाने में सहयोग देने के लिए आपका जितना भी धन्यवाद् करें कम है।अपने सहकर्मियों  द्वारा पोस्ट की गयीं सभी contributions  ही हैं जिन्होंने इस स्पेशल सेगमेंट को  “सबसे  लोकप्रिय” की संज्ञा देने में […]

    Continue reading


  •  यज्ञों पर आधारित लेख श्रृंखला का द्वितीय लेख

    श्री वेदमाता गायत्री ट्रस्ट शांतिकुंज हरिद्वार द्वारा प्रकाशित श्रद्धेय डॉक्टर प्रणव पंड्या और आदरणीय ज्योतिर्मय जी की बहुचर्चित  पुस्तक “चेतना की शिखर यात्रा पार्ट 2 एवं अनेकों अन्य sources पर आधारित लेख शृंखला का यह द्वितीय लेख है। परम पूज्य गुरुदेव ने यज्ञ विज्ञान पर विशाल साहित्य की रचना की है। इस पुस्तिका में गुरुदेव […]

    Continue reading


  • यज्ञों पर आधारित लेख श्रृंखला का प्रथम लेख 

    श्री वेदमाता गायत्री ट्रस्ट शांतिकुंज हरिद्वार द्वारा प्रकाशित श्रद्धेय डॉक्टर प्रणव पंड्या और आदरणीय ज्योतिर्मय जी की बहुचर्चित  पुस्तक “चेतना की शिखर यात्रा पार्ट 2 के उस चैप्टर पर जब हमारी दृष्टि पड़ी जिसका शीर्षक था “शीश दिए  प्रभु मिले” तो  एकदम सारे शरीर में बिजली सी कौंध गयी। सिख धर्म के 10वें गुरु, खालसा […]

    Continue reading


  • एक ही समय पर अनेकों स्थानों पर प्रकट हुए गुरुदेव 

    पाठकों से निवेदन है कि इस लेख को पढ़ने से पहले इस विषय पर पूर्व प्रकाशित तीन लेख अवश्य पढ़ लें ताकि पूर्ण लिंक बन सके। पूर्व प्रकाशित लेखों को पढ़ने के लिए हमारी वेबसाइट यां Internet archive   विजिट करें।    कुछ विशेष जानकारी : गुरुदेव की अफ्रीका यात्रा के उद्देश्य के बारे में हमने इस […]

    Continue reading


  • अपने सहकर्मियों की कलम से -24  दिसंबर,2022 

      स्पेशल सेगमेंट को शुरू करने से पहले आइए उस निवेदन को स्मरण कर लें जो हमने पिछले सप्ताह किया था: 26 जनवरी, 2023 को आ रहा परम  पूज्य गुरुदेव का आध्यात्मिक जन्म दिवस और अपने बच्चों का इस संदर्भ में दिया जाने वाला योगदान। आज फिर remind करा रहे हैं कि 26 जनवरी नज़दीक […]

    Continue reading


  • अफ्रीका यात्रा में जहाज़  पर नौ दिवसीय सत्र

    मिरियांबो जहाज 25-30  किलोमीटर प्रति घंटा  की गति से समुद्र की छाती पर किसी विशाल बतख  की सी मस्त चाल से तैरता हुआ जा रहा था। गुरुदेव के केबिन और डेक पर जहां कहीं भी गुरुदेव  बैठते, साधना और स्वाध्याय की गतिविधियां चलती ही  रहती थीं  । शुरु के कुछ  दिन तो अपरिचय/एकांत के वातावरण […]

    Continue reading


  • समुद्री जहाज़ पर परम पूज्य गुरुदेव और कैप्टन डेंगला की दिव्य वार्ता 

    चेतना की शिखर यात्रा 3 एवं अनेकों स्रोत परम पूज्य गुरुदेव की अफ्रीका देशों की यात्रा का विवरण आरम्भ करने से पूर्व एक बात स्पष्ट करना बहुत ही आवश्यक है। आगे आने वाले पन्नों में जिस जहाज़ का नाम “मिरियांबो” बताया गया है, हमने जिज्ञासावश गूगल से extensive रिसर्च की। जब हमें गूगल से यही […]

    Continue reading


  • परम पूज्य गुरुदेव की अफ्रीका यात्रा का उद्देश्य

    चेतना की शिखर यात्रा 3 एवं अनेकों स्रोत गुरुदेव की अफ्रीका यात्रा के बारे में लिखना दो महान व्यक्तियों के बिना अपूर्ण ही है।  उनमें से प्रथम नाम आता है नैरोबी निवासी आदरणीय विद्या परिहार जी का और दूसरा नाम है मसूरी इंटरनेशनल स्कूल के जन्मदाता एवं  प्रवासी भारतीय  आदरणीय हंसमुख रावल जी। हम तो […]

    Continue reading


  • कल रिलीज़ हो रही वेबसीरीज़ का teaser-trailer  

    19  दिसंबर 2022 का ज्ञानप्रसाद आज सप्ताह का प्रथम  दिन सोमवार है, आज के ज्ञानप्रसाद का आरम्भ आदरणीय अरुण वर्मा जी के सराहनीय कदम से करते हैं और ह्रदय से धन्यवाद् देते हैं कि उन्होंने  हमारे निवेदन को सम्मान देते हुए इतनी तत्परता दिखाई जो हम सबके लिए उदाहरणीय तो है ही परम पूज्य गुरुदेव  […]

    Continue reading


  • अपने सहकर्मियों की कलम से -17  दिसंबर ,2022  

    सप्ताह  का सबसे लोकप्रिय सेगमेंट “अपने सहकर्मियों की कलम से” लेकर हम अपने समर्पित सहकर्मियों के बीच आ चुके हैं, इसे लोकप्रिय बनाने में सहयोग देने के लिए आपका जितना भी धन्यवाद् करें कम है। अपने सहकर्मियों  द्वारा पोस्ट की गयीं सभी  contributions  ही हैं जिन्होंने इस स्पेशल सेगमेंट को  “सबसे  लोकप्रिय” की संज्ञा देने […]

    Continue reading


  • वंदनीय माता जी का आश्वासन एवं शिष्यों की क्षमा प्रार्थना 

    महाशक्ति की लोकयात्रा वंदनीय माता जी  ने कहा था कि वे देह न रहने पर भी दूर न होंगी। उनके बेटे-बेटियां उन्हें पुकारते ही अपनी मां के आंचल की छाया और छुअन को महसूस करेंगे। भावमयी जगदंबा की पराचेतना की ही भांति उनके आश्वासन भी शाश्वत, अमर और अमिट हैं। उन्होंने अपने जीवनकाल में अनेक […]

    Continue reading


  • वंदनीय  माता जी का गुरुदेव से महामिलन एवं महाप्रयाण    

    महाशक्ति की लोकयात्रा  संतानों की पीड़ा के लगातार विषपान से वंदनीया माताजी का स्वास्थ्य जर्जर होता गया । उनकी देह निरंतर व्याधिग्रस्त होगी गई। यहां तक कि 16-20 अप्रैल 1994 को चित्रकूट में होने वाले अश्वमेध यज्ञ  आयोजन में वह जाने की स्थिति में नहीं थीं। तब तक स्वास्थ्य काफी बिगड़ चुका था। काफी ऊहापोह […]

    Continue reading


  • वंदनीय माता जी की 1993 की विदेश यात्रा 

    महाशक्ति की लोकयात्रा विश्वमाता विश्वभर में फैले अपने बच्चों को प्यार-दुलार देने की तैयारियां करने लगीं। वैसे तो अकेला विश्व क्या अनंत-अनंत ब्रह्मांड उनके जाने-पहचाने थे। सूक्ष्मशरीर से उन्होंने अनेकों रहस्यमय यात्राएं की थीं। बच्चों की प्रेम भरी पुकार पर दुनिया के किसी भी कोने में पहुंचना उनका स्वभाव था। कभी स्वप्नों के माध्यम से […]

    Continue reading


  • अपने सहकर्मियों की कलम से -3 दिसंबर, 2022

    बहिन सुमनलता, सरविन्द जी एवं अरुण वर्मा जी की कलाकृति आज गीता जयंती का पावन दिन है और आदरणीय शैल जीजी का जन्म दिवस, 1952 को अवतरित हुई परम पूज्य गुरुदेव एवं वंदनीय माता जी की सुपुत्री को जन्म दिन की हार्दिक शुभकामना। क्या संयोग है की बात है कि जब तपोभूमि मथुरा की भूमि […]

    Continue reading


  • अपने सहकर्मियों की कलम से -10 दिसंबर ,2022

    1992 के कुरुक्षेत्र अश्वमेध यज्ञ में हमारी भागीदारी   सप्ताह  का सबसे लोकप्रिय सेगमेंट “अपने सहकर्मियों की कलम से” लेकर हम अपने समर्पित सहकर्मियों के बीच आ चुके हैं, इसे लोकप्रिय बनाने में सहयोग देने के लिए आपका जितना भी  धन्यवाद् करें कम है। अपने सहकर्मियों  द्वारा पोस्ट की गयीं सभी  contributions  ही हैं जिन्होंने इस […]

    Continue reading


  • 1990 और 1992 के संकल्प श्रद्धांजलि एवं शपथ समारोह  

    ब्रह्मवर्चस द्वारा सम्पादित 121 scanned  पन्नों  और 32 Text पन्नों  की दिव्य पुस्तक “महाशक्ति की लोकयात्रा” पर आधारित  लेख श्रृंखला हमने 15 नवंबर 2022 को आरम्भ की थी, आज तक 13   full length लेख लिख चुके हैं। आज का लेख इस श्रृंखला  का 14 वां लेख है। अन्य लेखों की भांति यह सभी लेख […]

    Continue reading


  • महाशक्ति में समाने का शिव संकल्प एवं महाशक्ति का महातप 

    महाशक्ति की लोकयात्रा ब्रह्मवर्चस द्वारा सम्पादित 121 scanned  पन्नों (32 Text पन्ने) की दिव्य पुस्तक“महाशक्ति की लोकयात्रा” पर आधारित  लेख श्रृंखला हमने 15 नवंबर 2022 को आरम्भ की थी, आज तक 12  full length लेख लिख चुके हैं। आज का लेख इस श्रृंखला  का 13वां लेख है। अन्य लेखों की भांति यह सभी लेख भी […]

    Continue reading


  • सूक्ष्मीकरण साधना में परम पूज्य गुरुदेव की हिमालय यात्रा

    महाशक्ति की लोकयात्रा सूत्र संचालिका वंदनीय माता जी   सूत्र-संचालिका के रूप में माताजी यद्यपि अपने शांतिकुंज आगमन के समय से ही क्रियाशील थीं, लेकिन गुरुदेव के हिमालय से वापस लौटने के बाद उन्होंने फिर से अपने आप को परोक्ष भूमिका ( indirect role)  में समेट लिया था । ऐसा करने के पीछे किसी तरह […]

    Continue reading


  • जीजी के जन्म दिवस को लेकर “गायत्री परिवार चैनल” की प्रतिक्रिया 

    5 दिसंबर 2022 का ज्ञानप्रसाद : जीजी के जन्म दिवस को लेकर “गायत्री परिवार चैनल” की प्रतिक्रिया  सप्ताह का प्रथम   दिन सोमवार , ब्रह्मवेला का समय, दिव्य ज्ञानप्रसाद के  वितरण का शुभ अवसर, ऑनलाइन ज्ञानरथ गायत्री परिवार के सहकर्मियों की  चेतना का जागरण, सभी संयोग एक ही ओर  इशारा कर रहे हैं कि आइए […]

    Continue reading


  • 1970s का शांतिकुंज एवं आरंभिक दिनों का विवरण

    महाशक्ति की लोकयात्रा  परमपूज्य गुरुदेव के हिमालय प्रस्थान के बाद माताजी के संपूर्ण जीवन में तप की सघनता छा गई। इस तप की ऊर्जा के स्पंदनों से शांतिकुंज का कण-कण अलौकिक दिव्यता से प्रकाशित  हो गया। भगवान महाशिव की भांति गुरुदेव हिमालय की गहनताओं में अपनी आत्मचेतना के कैलाश शिखर पर तपोलीन थे और  भगवती […]

    Continue reading


  • गुरुदेव और माताजी केवल कहने मात्र को ही दो हैं।  

    महाशक्ति की लोकयात्रा  योग साधना की परम प्रगाढ़ता में शिव और शक्ति का परस्पर अंतर्मिलन दो रूपों में प्रकट हुआ था। अपने पहले रूप में महायोगिनी माताजी की अंतस्थ कुण्डलिनी महाशक्ति परिपूर्ण जागरण के पश्चात् विभिन्न चक्रों का भेदन और प्रस्फुटन करती हुई सहस्रार में स्थित महाशिव से जा मिली थी। योग साधकों के लिए […]

    Continue reading


  • युगतीर्थ शांतिकुंज का भूमि चयन एवं मथुरा से विदाई  

    “महाशक्ति के दिव्य साधना स्थल” के रूप में शांतिकुंज के निर्माण की परिकल्पना परमपूज्य गुरुदेव की दूसरी हिमालय यात्रा (1960-61) के समय ही तैयार हो गई थी। उनकी मार्गदर्शक सत्ता ने इसकी आवश्यकता एवं इस तरह के निर्माण की स्पष्ट रूपरेखा से उन्हें इस विशिष्ट अवधि में अवगत करा दिया था। हिमालय की गहनताओं में […]

    Continue reading


  • अपने सहकर्मियों की कलम से -26 नवंबर 2022

    माता भगवती भोजनालय की दिव्यता  सप्ताह में केवल एक बार प्रकाशित होने वाले इस स्पेशल सेगमेंट को बार बार “सबसे लोकप्रिय” सेगमेंट कहा गया है, इसकी लोकप्रियता का मापदंड आपके कमैंट्स, काउंटर कमेंट, अनुभूतियाँ , फ़ोन कॉल्स, व्हाट्सअप मैसेज हैं जिसके लिए हम आपका ह्रदय से धन्यवाद् करते हैं।  1.हमारा इस सप्ताह का रिपोर्ट कार्ड […]

    Continue reading


  • माता भगवती भोजनालय की दिव्यता

    24 नवंबर 2022 का ज्ञानप्रसाद -महाशक्ति की लोक यात्रा  अपने बच्चों को संस्कारवान बनाने के लिए माताजी हमेशा प्रयत्नशील रहती थीं। गायत्री तपोभूमि व अखण्ड ज्योति संस्थान में रहने वाले, काम करने वाले और आने-जाने वाले सभी उनके बच्चे थे। वह सभी की अपनी सगी मां थीं। मां कौन होती है? इसके बारे में उनकी […]

    Continue reading


  • माता जी के ममत्व के उदाहरण  

    23 नवंबर 2022 का ज्ञानप्रसाद महाशक्ति की लोकयात्रा   वंदनीय माता जी ने इन्ही दिनों ओमप्रकाश,दया एवं श्रद्धा के जीवन को संवारा। सतीश (मृत्युंजय शर्मा) एवं शैलो (शैलबाला) भी बड़े हो रहे थे। उनकी पढ़ाई-लिखाई की देखभाल भी उन्हें ही करनी पड़ती थी। बच्चों में जैसा कि अक्सर होता है, उनमें चंचलता, नटखटपन की बहुलता होती […]

    Continue reading


  • अखंड ज्योति संस्थान मथुरा में वंदनीय माता जी के आरंभिक दिन 

    21  नवंबर 2022 का ज्ञानप्रसाद ओमप्रकाश,दया और  श्रद्धा तीनों परम पूज्य गुरुदेव की स्वर्गवासी पत्नी सरस्वती देवी के बच्चे थे लेकिन नई  मां से यह बच्चे ऐसे  घुल-मिल गए जैसे वर्षों से जानते हों। । माताजी  ने भी उन्हें अपने हृदय में अटूट प्रेम का स्थान दिया । माताजी के आने से घर का वातावरण  […]

    Continue reading


  • वंदनीय माता जी का  विवाह एवं अनुभूतियाँ 

    वंदनीय माता जी ने एक बार शिष्यों के समक्ष साधना और  तपस्या की बात करते हुए  कहा था कि   “ये सब जितना गोपनीय रहे, उतना ही अच्छा। संसार को दिखाकर जताकर भला क्या लाभ होगा? गुरुजी को लोकशिक्षण करना था, तुम सब को बताना था, सिखाना था, इसलिए उन्होंने अपने बारे में कुछ छोटी-मोटी बातें […]

    Continue reading


  • अपने सहकर्मियों की कलम से -19  नवंबर   2022- कुसुम त्रिपाठी एवं सरविन्द पाल जी  का योगदान  

    आज के लेख में 7 घंटे का समय लगने के कारण पोस्टर बनाना संभव नहीं हो पाया ,क्षमाप्रार्थी हैं  सप्ताह के अंत में प्रसारित होने वाले  “अपने सहकर्मियों की कलम से” सेगमेंट की लोकप्रियता का कारण एक तो वीकेंड हो सकता है, दूसरा हमारे रिपोर्ट कार्ड का विश्लेषण हो सकता है जिसमें आपको हमारी त्रुटियां […]

    Continue reading


  • वंदनीय माता जी के  अलौकिक बाल्यकाल का दिव्य दर्शन

    17  नवंबर 2022 का ज्ञानप्रसाद विशिष्ट वर्ष में अवतरित हुईं महाशक्ति  पिता का ज्योतिष ज्ञान पुत्री को गोद में लेते ही सार्थक हो गया। उन्होंने कन्या के जन्म मुहूर्त पर मन-ही-मन विचार किया,ग्रहों की दशा के बारे में गणनाएं कीं और उनके चेहरे पर प्रसन्नता की रेखाएं झिलमिला उठीं। ज्योतिष की गणनाएं एक के बाद […]

    Continue reading


  • वंदनीय माता जी के जन्म के समय दिव्यता का आभास 

    16 नवंबर 2022 का ज्ञानप्रसाद -महाशक्ति की लोकयात्रा चैप्टर 1-3 आइए दिव्य ज्योति के जन्म की चर्चा से पहले “मातृतत्व” के बारे में जानने का प्रयास करें।     माँ एक ऐसा शब्द है जिसकी जितनी भी व्याख्या की जाए  कम है। माँ के लिए मातृशक्ति, आदिशक्ति, युगशक्ति, जगजननी और न जाने कौन-कौन से विशेषण प्रयोग किये […]

    Continue reading


  • 15 नवंबर 2022 का ज्ञानप्रसाद – परम वंदनीय माता जी की जीवन लीला का दिव्य आरम्भ

    आज सप्ताह का दूसरा दिन मंगलवार है, इस मंगलमयी  ब्रह्मवेला में परमपूज्य गुरुदेव के मार्गदर्शन में लिखा  गया ज्ञानप्रसाद प्रस्तुत है । आशा ही नहीं बल्कि पूर्ण विश्वास है  कि यह ज्ञानप्रसाद हमारे समर्पित सहकर्मियों को  रात्रि में आने वाले शुभरात्रि सन्देश तक अनंत  ऊर्जा प्रदान करता रहेगा। कल वाला  लेख  केवल एक सूचना देने […]

    Continue reading


  • अपने सहकर्मियों की कलम से -12 नवंबर   2022- संजना कुमारी और डॉ सुमति पाठक का योगदान  

    अपने सहकर्मियों की कलम से -12 नवंबर   2022- संजना कुमारी और डॉ सुमति पाठक का योगदान   परम पूज्य गुरुदेव, वंदनीय माता जी के सूक्ष्म संरक्षण और मार्गदर्शन में 12  नवंबर   2022  शनिवार का “अपने सहकर्मियों की कलम से” का यह लोकप्रिय सेगमेंट आपके समक्ष  प्रस्तुत करते  हुए बहुत ही हर्ष हो रहा है। […]

    Continue reading


  • अखंड ज्योति संस्थान घीआ मंडी मथुरा पर एक संक्षिप्त  विवरण 

    चेतना की शिखर यात्रा 1, चैप्टर 20 एवं अनेकों online sources  परम पूज्य गुरुदेव के  कार्यक्षेत्र का विस्तार हो रहा था, अखंड ज्योति पाठकों की संख्या बढ़ रही थी, वर्तमान आवास कम  पड़ने लगा तो बड़े आवास की खोज आरम्भ हुई। 3-4 मकान देखे लेकिन परिस्थितियों के अनुरूप घीआ मंडी स्थित “वर्तमान अखण्ड ज्योति संस्थान” […]

    Continue reading


  • वंदनीय माता जी के विवाह के तुरंत बाद के कुछ संस्मरण

    चेतना की शिखर यात्रा 1,चैप्टर 20, महाशक्ति की लोकयात्रा एवं ऑनलाइन references  जब ताई जी  ने ओमप्रकाश को चरणस्पर्श करने को कहा तो चरण स्पर्श करते ही नई माँ ने  पूछा, “किस कक्षा में पढ़ते हो?” ओमप्रकाश ने बड़े हल्के स्वर में इस प्रश्न का उत्तर दिया, “मेरा नाम ओमप्रकाश है और मैं कक्षा सात […]

    Continue reading


  • श्रीराम का दूसरा विवाह

    7 नवम्बर 2022 का ज्ञानप्रसाद- चेतना की शिखर यात्रा पार्ट 1, चैप्टर 20 आज सप्ताह का प्रथम दिन सोमवार है और आप सभी इस ब्रह्मवेला के दिव्य समय में ऊर्जावान ज्ञानप्रसाद की प्रतीक्षा कर रहे होंगें, तो लीजिये हम प्रस्तुत हो गए उस ज्ञानप्रसाद को लेकर जिसे परमपूज्य गुरुदेव के मार्गदर्शन में लिखा गया। आशा […]

    Continue reading


  • अपने सहकर्मियों की कलम से -5 नवंबर 2022

    आज के weekend स्पेशल सेगमेंट का मूल्यांकन तो आपके कमैंट्स ही करेंगें लेकिन हम इतना ही कह सकते हैं कि आज कुछ आपस की बातें हैं, कुछ अनुभूतियाँ हैं,कुछ अनुभव हैं और कुछ हमारे समर्पित परिवारजनों की सक्रियता हैं। सुधांशु जी की वीडियो पर रेणु  श्रीवास्तव जी का कमेंट हमें बहुत कुछ सीखने को कह […]

    Continue reading


  • परम पूज्य गुरुदेव का प्रथम विवाह और पत्नी सरस्वती देवी का निधन। 

    3 नवंबर 2022 का ज्ञानप्रसाद :चेतना की शिखर यात्रा पार्ट 1  चैप्टर 7 और पेज 376 आज का ज्ञानप्रसाद compile करने के लिए हमने बहुचर्चित पुस्तक “चेतना की शिखर यात्रा पार्ट 1 चैप्टर 7 एवं अन्य कईं ऑनलाइन sources की सहायता ली है। इस ज्ञानप्रसाद में परम पूज्य गुरुदेव की प्रथम पत्नी आदरणीय सरस्वती देवी के […]

    Continue reading


  • श्रीराम महामना  मालवीय जी  से प्रेरित हुए।

    2 नवंबर 2022 का ज्ञानप्रसाद : चेतना की शिखर यात्रा पार्ट 1 चैप्टर 7 परम पूज्य गुरुदेव और  मालवीय जी के घनिष्ठ सम्बन्ध से हम सब भलीभांति परिचित हैं। आज का ज्ञानप्रसाद इन्ही संबंधों को दर्शा रहा है।    मालवीय जी सदैव अस्पृश्यों को दूसरे वर्गों के समान अधिकार देने के पक्ष में थे। उनके अनुसार […]

    Continue reading


  • बालक श्रीराम और  मार्गदर्शक सत्ता के दिव्य सूक्ष्म संवाद   

    1 नवंबर 2022 का ज्ञानप्रसाद-  बालक श्रीराम और  मार्गदर्शक सत्ता के दिव्य सूक्ष्म संवाद    चेतना की शिखर यात्रा पार्ट 1, चैप्टर 6 आज के  ज्ञानप्रसाद में 15 वर्षीय बालक श्रीराम के अपनी मार्गदर्शक सत्ता के साथ,और ताई जी साथ  संवाद इतने  रोचक और ज्ञान से भरपूर हैं कि हमें लेख की लम्बाई का ध्यान ही […]

    Continue reading


  • मार्गदर्शक सत्ता ने बालक श्रीराम को कौन से निर्देश दिए -पार्ट 1 

    31  अक्टूबर 2022 का ज्ञानप्रसाद-मार्गदर्शक सत्ता ने बालक श्रीराम को कौन से निर्देश दिए -पार्ट 1  चेतना की शिखर यात्रा पार्ट 1, चैप्टर 6     एक बार फिर आज सप्ताह का प्रथम दिन  सोमवार है,सच मानिये हमें अपने सहकर्मियों से मिलने की इतनी उत्सुकता रहती है कि शब्दों में वर्णन करना कठिन है। हालाँकि आपका कोई […]

    Continue reading


  • अपने सहकर्मियों की कलम से -29  अक्टूबर  2022,वंदना और पुष्पा जी के पिता जी के  अंतिम समय की अनुभूतियाँ  

    परम पूज्य गुरुदेव, वंदनीय माता जी के सूक्ष्म संरक्षण और मार्गदर्शन में  शनिवार का “अपने सहकर्मियों की कलम से” का यह लोकप्रिय सेगमेंट आपके समक्ष  प्रस्तुत करते  हुए बहुत ही हर्ष हो रहा है।काश आपके पास दिव्य नेत्र होते तो आप इस स्पेशल सेगमेंट की लोकप्रियता का अनुमान लगा सकते। इस छोटे से किन्तु समर्पित […]

    Continue reading


  • मार्गदर्शक सत्ता द्वारा रामकृष्ण परमहंस और स्वामी विवेकानंद संवाद का चित्रण     

    27 अक्टूबर 2022 का ज्ञानप्रसाद चेतना की शिखर यात्रा पार्ट 1, चैप्टर 6  परम पूज्य गुरुदेव की मार्गदर्शक सत्ता दादा गुरु स्वामी सर्वेश्वरानन्द जी महाराज पर आधारित लेखों की श्रृंखला का यह सातवां लेख है। इस श्रृंखला की लोकप्रियता का वर्णन हमारे वरिष्ठ और अन्य पाठक तो कर ही रहे हैं, कुसुम त्रिपाठी जी की […]

    Continue reading


  • मार्गदर्शक सत्ता ने गुरुदेव को रामकृष्ण परमहंस देव के संस्मरणों के दर्शन कराये।  

    26  अक्टूबर 2022 का ज्ञानप्रसाद-मार्गदर्शक सत्ता ने गुरुदेव को रामकृष्ण परमहंस देव के संस्मरणों के दर्शन कराये।   चेतना की शिखर यात्रा पार्ट 1, चैप्टर 6  आज सप्ताह का तृतीय  दिन बुधवार है और आप सब रंगमंच पर उन दृश्यों का दिव्य आनंद प्राप्त कर  रहे हैं जिनमें दादा गुरु 15  वर्षीय किशोर श्रीराम को  को […]

    Continue reading


  • मार्गदर्शक सत्ता ने गुरुदेव को तीसरे जन्म “रामकृष्ण परमहंस देव”  के दर्शन कराए

    25 अक्टूबर 2022 का ज्ञानप्रसाद- चेतना की शिखर यात्रा पार्ट 1, चैप्टर 6  आइये सबसे  पहले आदरणीय प्रेमशीला बहिन जी की बेटी के स्वास्थ्य लाभ की प्रार्थना करें। गुरुदेव से निवेदन है की बेटी को शीघ्र अति शीघ्र ठीक करें ताकि बहिन जी सुख का सांस ले सकें।     आज सप्ताह का द्वितीय दिन मंगलवार है […]

    Continue reading


  • मार्गदर्शक सत्ता ने गुरुदेव को दूसरे  जन्म “समर्थ गुरु रामदास”  के दर्शन कराए

    24 अक्टूबर 2022 का ज्ञानप्रसाद – चेतना की शिखर यात्रा पार्ट 1, चैप्टर 6     आज सप्ताह का प्रथम दिवस सोमवार है और आप सभी इस  ब्रह्मवेला के दिव्य समय में  ऊर्जावान ज्ञानप्रसाद की प्रतीक्षा कर रहे होंगें, तो लीजिये हम प्रस्तुत हो गए उस ज्ञानप्रसाद को लेकर जिसे  परमपूज्य गुरुदेव के मार्गदर्शन में लिखा गया। […]

    Continue reading


  • अपने सहकर्मियों की कलम से -22 अक्टूबर  2022- वंदना कुमार जी के पिता जी की  यमराज वाली अनुभूति  

    परम पूज्य गुरुदेव, वंदनीय माता जी के सूक्ष्म संरक्षण और मार्गदर्शन में 22 अक्टूबर  2022  शनिवार का “अपने सहकर्मियों की कलम से” का यह लोकप्रिय सेगमेंट आपके समक्ष  प्रस्तुत करते  हुए बहुत ही हर्ष हो रहा है।काश आपके पास दिव्य नेत्र होते तो आप इस स्पेशल सेगमेंट की लोकप्रियता का अनुमान लगा सकते। इस छोटे […]

    Continue reading


  • अपने सहकर्मियों की कलम से -15 अक्टूबर  2022- 4  सहकर्मियों का योगदान 

    परम पूज्य गुरुदेव, वंदनीय माता जी के सूक्ष्म संरक्षण और मार्गदर्शन में 15 अक्टूबर  2022  शनिवार का “अपने सहकर्मियों की कलम से” का यह लोकप्रिय सेगमेंट आपके समक्ष  प्रस्तुत करते  हुए बहुत ही हर्ष हो रहा है।काश आपके पास दिव्य नेत्र होते तो आप इस स्पेशल सेगमेंट की लोकप्रियता का अनुमान लगा सकते। इस छोटे […]

    Continue reading


  • मार्गदर्शक सत्ता ने गुरुदेव को प्रथम जन्म “संत कबीर के दर्शन कराए”

    20  अक्टूबर 2022 का ज्ञानप्रसाद- चेतना की शिखर यात्रा पार्ट 1, चैप्टर 6     सप्ताह का चतुर्थ  दिन वीरवार , ब्रह्मवेला के दिव्य समय में आपके इनबॉक्स में आज का ऊर्जावान ज्ञानप्रसाद आ चुका  है। परमपूज्य गुरुदेव के मार्गदर्शन में लिखा गया यह ज्ञानप्रसाद हमारे समर्पित सहकर्मियों को  रात्रि में आने वाले शुभरात्रि सन्देश तक अनंत  […]

    Continue reading


  • आंवलखेड़ा स्थित कोठरी में दादा गुरु सर्वेश्वरानंद जी के प्रकाश शरीर का अवतरण 

    19 अक्टूबर 2022 का ज्ञानप्रसाद चेतना की शिखर यात्रा पार्ट 1, चैप्टर 6     सप्ताह का तीसरा  दिन बुधवार, ब्रह्मवेला के दिव्य समय में आपके इनबॉक्स में आज का ऊर्जावान ज्ञानप्रसाद आ चुका  है। परमपूज्य गुरुदेव के मार्गदर्शन में लिखा गया यह ज्ञानप्रसाद हमारे समर्पित सहकर्मियों को  रात्रि में आने वाले शुभरात्रि सन्देश तक अनंत  ऊर्जा […]

    Continue reading


  • दादा गुरु सर्वेश्वरानंद  जी के साक्षात्कार पर आधारित लेखों की पृष्ठभूमि।

    18 अक्टूबर 2022 का ज्ञानप्रसाद चेतना की शिखर यात्रा पार्ट 1, चैप्टर 6     सप्ताह का दूसरा  दिन मंगलवार, ब्रह्मवेला के दिव्य समय में आपके इनबॉक्स में आज का ऊर्जावान ज्ञानप्रसाद आ चुका  है। परमपूज्य गुरुदेव के मार्गदर्शन में लिखा गया यह ज्ञानप्रसाद हमारे समर्पित सहकर्मियों को  रात्रि में आने वाले शुभरात्रि सन्देश तक ऊर्जा प्रदान […]

    Continue reading


  • निधिवन के रास विहार का रहस्य गुरुदेव से जानें  

    17  अक्टूबर  2022 का ज्ञानप्रसाद चेतना की शिखर यात्रा पार्ट 1, चैप्टर 5    सप्ताह के प्रथम दिन सोमवार की ब्रह्मवेला के दिव्य समय में आपके इनबॉक्स में आज का ऊर्जावान ज्ञानप्रसाद आ चुका  है। अपने गुरु की बाल्यावस्था- किशोरावस्था  को समर्पित, परमपूज्य गुरुदेव के मार्गदर्शन में लिखा गया यह ज्ञानप्रसाद हमारे समर्पित सहकर्मियों को  रात्रि […]

    Continue reading


  • बाबा ने कहा, “विधि ने  तुम्हारे लिए कुछ और ही विधान रचा है।”

    13 अक्टूबर  2022 का ज्ञानप्रसाद चेतना की शिखर यात्रा पार्ट 1, चैप्टर 5    सप्ताह के  चतुर्थ दिन गुरुवार की ब्रह्मवेला के  दिव्य समय में आपके इनबॉक्स में आज का ऊर्जावान ज्ञानप्रसाद आ चुका  है। अपने गुरु की बाल्यावस्था- किशोरावस्था  को समर्पित, परमपूज्य गुरुदेव के मार्गदर्शन में लिखा गया यह ज्ञानप्रसाद हमारे समर्पित सहकर्मियों को  रात्रि […]

    Continue reading


  • श्रीराम ने उत्तर दिया,“गंतव्य तो सभी का एक ही  है लेकिन जाना कैसे है, किसी को पता नहीं है।”

    12  अक्टूबर  2022 का ज्ञानप्रसाद- चेतना की शिखर यात्रा पार्ट 1, चैप्टर 5    सप्ताह का तीसरा दिन बुधवार,ब्रह्मवेला  का दिव्य समय,अपने गुरु की बाल्यावस्था- किशोरावस्था  को समर्पित,परमपूज्य गुरुदेव के मार्गदर्शन में आज का ऊर्जावान ज्ञानप्रसाद प्रस्तुत है। आशा करते हैं कि हर लेख की भांति यह लेख भी  हमारे समर्पित सहकर्मियों को  रात्रि में आने […]

    Continue reading


  • गुरुदेव के पिताश्री के महाप्रयाण में “मृत्यु के दर्शन” 

    11 अक्टूबर  2022 का ज्ञानप्रसाद चेतना की शिखर यात्रा पार्ट 1, चैप्टर 4   सप्ताह का दूसरा  दिन मंगलवार, मंगलवेला-ब्रह्मवेला  का दिव्य समय, अपने गुरु की बाल्यावस्था- किशोरावस्था  को समर्पित,परमपूज्य गुरुदेव के मार्गदर्शन में आज का ऊर्जावान ज्ञानप्रसाद प्रस्तुत है। आशा करते हैं कि हर लेख की भांति यह लेख भी  हमारे समर्पित सहकर्मियों को  रात्रि […]

    Continue reading


  • किशोर श्रीराम की  सर्पदंश वाली अनुभूति 

    10 अक्टूबर  2022 का ज्ञानप्रसाद चेतना की शिखर यात्रा पार्ट 1, चैप्टर 4   सप्ताह का प्रथम दिन सोमवार, मंगलवेला-ब्रह्मवेला  का दिव्य समय, अपने गुरु की बाल्यावस्था- किशोरावस्था  को समर्पित,परमपूज्य गुरुदेव के मार्गदर्शन में आज का ऊर्जावान ज्ञानप्रसाद प्रस्तुत है। आशा करते हैं कि हमारे समर्पित सहकर्मी भी हमारी तरह  अवकाश के उपरांत पूर्ण ऊर्जा से […]

    Continue reading


  • अपने सहकर्मियों की कलम से -8 अक्टूबर  2022 – सात सहकर्मियों का योगदान 

    परम पूज्य गुरुदेव, वंदनीय माता जी के सूक्ष्म संरक्षण और मार्गदर्शन में 8 अक्टूबर  2022  शनिवार का “अपने सहकर्मियों की कलम से” का यह लोकप्रिय सेगमेंट आपके समक्ष  प्रस्तुत करते  हुए बहुत ही हर्ष हो रहा है ।  आपकी आज्ञा से सबसे पहले हमारी कलम से,  केवल दो बातें : 1.हर्ष का कारण तो हमारे […]

    Continue reading


  • पिताश्री ने कहा, “अब  तुम भगवान् के हुए।”

    6 अक्टूबर  2022 का ज्ञानप्रसाद चेतना की शिखर यात्रा पार्ट 1, चैप्टर 4 बालक श्रीराम ननिहाल से वापिस आ गये, पिताश्री के साथ teaching session में व्यस्त हो गए,अपनेआप को भगवान् को समर्पित कर दिया और एक बहुत  ही मार्मिक घटना- यही है आज का ज्ञानप्रसाद।  शब्दसीमा न तो भूमिका और न ही संकल्प सूची […]

    Continue reading


  • 13 वर्षीय बालक श्रीराम की ननिहाल यात्रा 2 

    5 अक्टूबर  2022 का ज्ञानप्रसाद  चेतना की शिखर यात्रा पार्ट 1, चैप्टर 4   सप्ताह का तृतीय   दिन बुधवार , मंगलवेला-ब्रह्मवेला  का दिव्य समय, अपने गुरु की बाल्यावस्था- किशोरावस्था  को समर्पित,परमपूज्य गुरुदेव के मार्गदर्शन में आज का ऊर्जावान ज्ञानप्रसाद प्रस्तुत है। आशा करते हैं इस लेख की दिव्यता, रात को आने वाले शुभरात्रि सन्देश तक […]

    Continue reading


  • 13 वर्षीय बालक श्रीराम की ननिहाल यात्रा 1

    3 अक्टूबर  2022 का ज्ञानप्रसाद  चेतना की शिखर यात्रा पार्ट 1, चैप्टर 4   सप्ताह का प्रथम  दिन सोमवार, मंगलवेला-ब्रह्मवेला  का दिव्य समय, अपने गुरु की बाल्यावस्था- किशोरावस्था  को समर्पित,परमपूज्य गुरुदेव के मार्गदर्शन में आज का ऊर्जावान ज्ञानप्रसाद प्रस्तुत है। आशा करते हैं इस लेख की दिव्यता, शुभरात्रि सन्देश तक आपको ऊर्जा प्रदान करती रहेगी। ज्ञानप्रसाद […]

    Continue reading


  • अपने सहकर्मियों की कलम से -2 अक्टूबर  2022 

    परम पूज्य गुरुदेव, वंदनीय माता जी के सूक्ष्म संरक्षण और मार्गदर्शन में 2 अक्टूबर  2022 रविवार  का “अपने सहकर्मियों की कलम से” का यह लोकप्रिय सेगमेंट  प्रस्तुत है।  इस सेगमेंट की लोकप्रियता का अनुमान आपके कमैंट्स और कॉउंटर कमेंटस से हो ही जाता है।  आपके सुझाव हमारा मार्गदर्शन  करने में बहुत ही सहायक होते हैं, […]

    Continue reading


  • छपको अम्मा की कथा का तीसरा एवं अंतिम पार्ट

    30 सितम्बर 2022 का ज्ञानप्रसाद चेतना की शिखर यात्रा पार्ट 1, चैप्टर 3  सप्ताह का पांचवां  दिन शुक्रवार, मंगलवेला-ब्रह्मवेला  का दिव्य समय, अपने गुरु की बाल्यावस्था- किशोरावस्था  को समर्पित,परमपूज्य गुरुदेव के मार्गदर्शन में आज का ऊर्जावान ज्ञानप्रसाद प्रस्तुत है। आशा करते हैं इस लेख की दिव्यता, शुभरात्रि सन्देश तक आपको ऊर्जा प्रदान करती रहेगी। ज्ञानप्रसाद […]

    Continue reading


  • पुत्र, समझो,तुम्हारा भी एक पुश्चरचरण हो गया।  छपको अम्मा का बहुचर्चित प्रसंग पार्ट 2  

    29 सितम्बर 2022 का ज्ञानप्रसाद चेतना की शिखर यात्रा पार्ट 1, चैप्टर 3  सप्ताह का चौथा  दिन गुरुवार, मंगलवेला-ब्रह्मवेला  का दिव्य समय, अपने गुरु की बाल्यावस्था- किशोरावस्था  को समर्पित,परमपूज्य गुरुदेव के मार्गदर्शन में आज का ऊर्जावान ज्ञानप्रसाद प्रस्तुत है। आशा करते हैं इस लेख की दिव्यता, शुभरात्रि सन्देश तक आपको ऊर्जा प्रदान करती रहेगी। ज्ञानप्रसाद […]

    Continue reading


  • छपको अम्मा का बहुचर्चित प्रसंग पार्ट 1    

    28 सितम्बर 2022 का ज्ञानप्रसाद चेतना की शिखर यात्रा पार्ट 1, चैप्टर 3  सप्ताह का तृतीय  दिन बुधवार, मंगलवेला-ब्रह्मवेला  का दिव्य समय, अपने गुरु की बाल्यावस्था- किशोरावस्था  को समर्पित,परमपूज्य गुरुदेव के मार्गदर्शन में आज का ऊर्जावान ज्ञानप्रसाद प्रस्तुत है। आशा करते हैं इस लेख की दिव्यता, शुभरात्रि सन्देश तक आपको ऊर्जा प्रदान करती रहेगी। आज […]

    Continue reading


  • बालक श्रीराम का प्रथम सामाजिक अनुष्ठान बाल्यकाल में 

    27 सितम्बर 2022 का ज्ञानप्रसाद   चेतना की शिखर यात्रा पार्ट 1, चैप्टर 3  सप्ताह का द्वितीय दिन मंगलवार, मंगलवेला का दिव्य समय, ब्रह्मवेला,अपने गुरु के बाल्यकाल को समर्पित,आज का ऊर्जावान ज्ञानप्रसाद अपने सहकर्मियों के चरणों में प्रस्तुत है। आशा करते हैं इस लेख की दिव्यता शुभरात्रि सन्देश तक ऊर्जा प्रदान करती रहेगी। पिछले सप्ताह गुरुवार […]

    Continue reading


  • “शारदीय-नवरात्रि एक शक्ति-साधना महापर्व”

    26 सितम्बर 2022 का ज्ञानप्रसाद आज सप्ताह का प्रथम दिन सोमवार है और सभी परिजन नवीन ऊर्जा के साथ ज्ञानप्रसाद का अमृतपान करने को उत्सुक होंगें। शारदीय नवरत्रि के कारण इस बार का सोमवार तो अतिरिक्त ऊर्जा का स्रोत है और सौभाग्यवश आदरणीय सरविन्द पाल जी के पुरषार्थ से आज का ज्ञानप्रसाद भी इस विषय […]

    Continue reading


  • अपने सहकर्मियों की कलम से -24 सितम्बर 2022 

    परम पूज्य गुरुदेव, वंदनीय माता जी के सूक्ष्म संरक्षण और मार्गदर्शन में 24 सितम्बर 2022  शनिवार का “अपने सहकर्मियों की कलम से” का यह लोकप्रिय सेगमेंट आपके चरणों में प्रस्तुत है।  इस सेगमेंट की लोकप्रियता का अनुमान आपके कमैंट्स और कॉउंटर कमेंटस से हो ही जाता है।  आपके सुझाव हमारा मार्गदर्शन  करने में बहुत ही […]

    Continue reading


  • परम पूज्य गुरुदेव के बाल्यकाल के कुछ संस्मरण 

    22  सितम्बर 2022 का ज्ञानप्रसाद- चेतना की शिखर यात्रा पार्ट 1, चैप्टर 3  सप्ताह का चौथा दिन गुरुवार, अपने गुरु के बाल्यकाल को समर्पित, प्रातः काल की अमृतवेला में आज का ऊर्जावान ज्ञानप्रसाद अपने सहकर्मियों के चरणों में प्रस्तुत है। आशा करते हैं इस लेख की दिव्यता शुभरात्रि सन्देश तक ऊर्जा प्रदान करती रहेगी। आज […]

    Continue reading


  • परम पूज्य गुरुदेव के बाल्यकाल के कुछ संस्मरण 

    21 सितम्बर 2022 का ज्ञानप्रसाद- चेतना की शिखर यात्रा पार्ट 1, चैप्टर 3    आज इस सप्ताह का तीसरा दिन बुधवार है और हम एक बार फिर आपको आंवलखेड़ा से सीधा प्रसारण दिखा रहे हैं जहाँ दिव्य हवेली में परम पूज्य गुरुदेव घुटनों के बल चले और आरम्भिक शिक्षा ग्रहण की। हमारे पाठकों को  LIVE […]

    Continue reading


  • परम पूज्य गुरुदेव के जन्म के समय और बाद की  कुछ विलक्षण घटनाएं।

    20 सितम्बर 2022 का ज्ञानप्रसाद – चेतना की शिखर यात्रा पार्ट 1, चैप्टर 2   आज सप्ताह का दूसरा दिन यानि मंगलवार है। यह कोई संयोग ही होगा कि 20 सितम्बर 1911  को पूज्यवर का अवतरण, 20 सितम्बर 1926 को वंदनीय माता जी का अवतरण और 19 सितम्बर 1994 को वंदनीय माता जी का  महाप्रयाण। कल […]

    Continue reading


  • परम पूज्य गुरुदेव के जन्म से पूर्व  कुछ विलक्षण घटनाएं।

    चेतना की शिखर यात्रा पार्ट 1, चैप्टर 2   आज सोमवार है, सप्ताह का प्रथम दिन, एक दिन के अवकाश के उपरांत सम्पूर्ण  ऊर्जा लेकर हम अपने सहकर्मियों के समक्ष प्रस्तुत हैं।   आज का  ज्ञानप्रसाद आरम्भ करने से पूर्व अपने सहकर्मियों की विशेष उपलब्धि के लिए हार्दिक बधाई देना चाहेंगें। आज की 24 आहुति संकल्प सूची […]

    Continue reading


  • गुरुदेव के जन्म के बाद कुछ विलक्षण (extraordinary ) घटनाएं 

    आज का लेख कल वाले लेख का दूसरा पार्ट  है।  कल हमने जन्म से पूर्व  गुरुदेव के माता जी की अनुभूतिआँ चित्रित की थीं।  आज  वाले लेख में जन्म के बाद वाली विलक्षणताओं  का चित्रण है।  तो चलें फिर आंवलखेड़ा की  पावन भूमि की दिव्य हवेली में जिस में उस महान आत्मा ने जन्म लिया […]

    Continue reading


  • अपने सहकर्मियों की कलम से -17  सितम्बर 2022 

    परम पूज्य गुरुदेव, वंदनीय माता जी के सूक्ष्म संरक्षण और मार्गदर्शन में 17  सितम्बर 2022  शनिवार का “अपने सहकर्मियों की कलम से” का यह लोकप्रिय सेगमेंट आपके चरणों में प्रस्तुत है।  इस सेगमेंट की लोकप्रियता का अनुमान आपके कमैंट्स और कॉउंटर कमेंटस से हो ही जाता है।  आपके सुझाव हमारा मार्गदर्शन  करने में बहुत ही […]

    Continue reading


  • आवश्यकताएँ तो सबकी पूरी हो जाती हैं लेकिन  इच्छाएँ किसी की भी समाप्त नहीं होती।

    15 सितम्बर 2022 का ज्ञानप्रसाद -“आवश्यकताएँ तो सबकी पूरी हो जाती हैं लेकिन  इच्छाएँ किसी की भी समाप्त नहीं होती।” आज गुरुवार है, सप्ताह का चौथा दिन और हमारे लेखों के अमृतपान का अंतिम दिन। कल शुक्रवार  वीडियो का दिन  होता है और शनिवार के  दिन सप्ताह का सबसे लोकप्रिय सेगमेंट प्रस्तुत किया जाता है।  […]

    Continue reading


  • क्या ईश्वर सच में न्यायी और दयालु है ?

    14 सितम्बर 2022 का ज्ञानप्रसाद प्रतक्ष्यवाद के आधुनिक युग में तो ईश्वर के अस्तित्व पर ही प्रश्न चिन्न लगे हुए हैं तो ईश्वर  के दयालु और न्यायी होने की बात कौन समझेगा। आइये हम सब इक्क्ठे होकर परम पूज्य गुरुदेव के साहित्य, पंडित लीलापत शर्मा  जी के प्रश्न, हमारे स्वयं के विचार और आप सबके […]

    Continue reading


  • OGGP के सहयोगी आद. कुमोदिनी गौरहा जी का कल वाले ज्ञानप्रसाद में योगदान। 

    13 सितम्बर 2022 का ज्ञानप्रसाद आज का ज्ञानप्रसाद ऑनलाइन ज्ञानरथ गायत्री परिवार की समर्पित सहभागी आदरणीय कुमोदिनी गौरहा जी द्वारा प्रस्तुत किया गया है। पंडित लीलापत शर्मा जी और परम पूज्य गुरुदेव के मध्य हुई प्रश्नोत्तरी पर आधारित आजकल चल रही श्रृंखला के लिए बहिन जी की प्रस्तुति अति उत्तम योगदान है जिसके लिए हम […]

    Continue reading


  • इष्ट का अर्थ है जीवन का लक्ष्य

    12 सितम्बर 2022 का ज्ञानप्रसाद सप्ताह के प्रथम दिन, सोमवार को, एक दिन के अवकाश के उपरांत हम अपने परिजनों से इस अमृतवेला में आज का ज्ञानप्रसाद लेकर उपस्थित हुए हैं। हमारे परिजन पूर्ण समर्पण के साथ आज के ज्ञानप्रसाद की प्रतीक्षा कर रहे होंगें, करें भी क्यों न, गुरुदेव की अमृतवाणी पर आधारित यह […]

    Continue reading


  • अपने सहकर्मियों की कलम से -10 सितम्बर 2022

    परम पूज्य गुरुदेव, वंदनीय माता जी के सूक्ष्म संरक्षण और मार्गदर्शन में 10 सितम्बर 2022  शनिवार का “अपने सहकर्मियों की कलम से” का यह लोकप्रिय सेगमेंट आपके चरणों में प्रस्तुत है।  इस सेगमेंट की लोकप्रियता का अनुमान आपके कमैंट्स और कॉउंटर कमेंटस से हो ही जाता है।  आपके सुझाव हमारा मार्गदर्शन  करने में बहुत ही […]

    Continue reading


  • क्या धर्म अफीम की गोली है?

    8 सितम्बर 2022 का ज्ञानप्रसाद ज्ञानप्रसाद लेख शृंखला का इस सप्ताह का अंतिम लेख, गुरुवार का ज्ञानप्रसाद,अमृतवेला में  परम पूज्य गुरुदेव की प्रेरणा से  प्रस्तुत है। कल शुक्रवार का ज्ञानप्रसाद  देव संस्कृति विश्व विद्यालय पर शूट की गयी केवल पांच मिंट की वीडियो होगी। युगतीर्थ शांतिकुंज द्वारा प्रकाशित यह वीडियो पूरी तरह से  HD है […]

    Continue reading


  • देवता हमारे अंदर हैं, बाहिर नहीं। कैसे जगाएं अंदर के देवता को ? 

    7  सितम्बर 2022 का ज्ञानप्रसाद-  बुधवार की  मंगलवेला में, अमृतवेला में  परम पूज्य गुरुदेव की प्रेरणा से आज का ज्ञानप्रसाद प्रस्तुत है। आशा ही नहीं पूर्ण विश्वास करते हैं कि हमारे परिजन पूर्ण समर्पण के साथ आज के ज्ञानप्रसाद की प्रतीक्षा कर रहे होंगें, करें भी क्यों न, गुरुदेव की अमृतवाणी पर आधारित यह सभी […]

    Continue reading


  • समर्पण से शिष्यत्व की प्राप्ति एवं भिन्न भिन्न प्रकार के दोष 

    6 सितम्बर 2022 का ज्ञानप्रसाद सप्ताह के दूसरे  दिन, मंगलवार, मंगलवेला में, अमृतवेला में हम  आज का ज्ञानप्रसाद लेकर उपस्थित हुए हैं। आशा ही नहीं पूर्ण विश्वास करते हैं कि हमारे परिजन पूर्ण समर्पण के साथ आज के ज्ञानप्रसाद की प्रतीक्षा कर रहे होंगें, करें भी क्यों न, गुरुदेव की अमृतवाणी पर आधारित यह सभी […]

    Continue reading


  • समर्पण से शिष्यत्व की प्राप्ति 

    5 सितम्बर 2022  सप्ताह के प्रथम दिन, सोमवार को, एक दिन के अवकाश के उपरांत हम अपने परिजनों से इस अमृतवेला में आज का ज्ञानप्रसाद लेकर उपस्थित हुए हैं। आशा ही नहीं पूर्ण विश्वास करते हैं कि हमारे परिजन पूर्ण समर्पण के साथ आज के ज्ञानप्रसाद की प्रतीक्षा कर रहे होंगें, करें भी क्यों न, […]

    Continue reading


  • अपने सहकर्मियों की कलम से -3 सितम्बर 2022 

    परम पूज्य गुरुदेव, वंदनीय माता जी के सूक्ष्म संरक्षण और मार्गदर्शन में 3 सितम्बर शनिवार का “अपने सहकर्मियों की कलम से” का यह लोकप्रिय सेगमेंट आपके चरणों में प्रस्तुत है।  इस सेगमेंट की लोकप्रियता का अनुमान आपके कमैंट्स और कॉउंटर कमेंटस से हो ही जाता है।  आपके सुझाव हमारा मार्गदर्शन  करने में बहुत ही सहायक […]

    Continue reading


  • ‘कस्य स्वित् धनम् ?’ (किसका है यह धन ?) पर उदाहरणों के साथ चर्चा। 

    1 सितम्बर 2022 का ज्ञानप्रसाद कल वाले  लेख का समापन  हमने निम्लिखित ऋचा से किया था। आज इसी पर संक्षेप में चर्चा करेंगें और स्वामी आनंद सरस्वती जी की पुस्तक “यह धन किसका है” में से कुछ उदाहरण का सहारा भी लेंगें।   “ओम ईशावास्यमिदं सर्वं यत्ंिकच जगत्यां जगत्। तेन त्येक्तेन भुञजीथा मा गृधः कस्य स्विद्धनम्।” […]

    Continue reading


  • धन से संबंधित दिवंगत महात्मा आनंद स्वामी सरस्वती जी के विचार

    30 अगस्त 2022 का ज्ञानप्रसाद कल वाले लेख में हमने महात्मा आनंद स्वामी सरस्वती जी का संक्षिप्त सा परिचय देने का साहस किया था, साहस इसलिए कह रहे हैं कि ऐसे विशाल व्यक्तित्व का परिचय देना बहुत ही कठिन होता है। रणबीर जी जिन्होंने स्वामी जी की पुस्तक “यह धन किसका है” का preface लिखा […]

    Continue reading


  • यह पृथ्वी  कभी किसी के साथ नहीं गई। 

    31 अगस्त 2022 का ज्ञानप्रसाद अगस्त माह का अंतिम दिन,बुधवार की मंगल-अमृत वेला और ज्ञानप्रसाद का अमृतपान, कितना अद्भुत सौभाग्य है कि परम पूज्य गुरुदेव, वंदनीय माता जी एवं महात्मा आनंद स्वामी सरस्वती के सूक्ष्म संरक्षण,मार्गदर्शन में हम सबको यह सौभाग्य प्राप्त  हो रहा है। हम सभी सूक्ष्म रूप में स्नेह की एक अटूट डोर […]

    Continue reading