जीजी के जन्म दिवस को लेकर “गायत्री परिवार चैनल” की प्रतिक्रिया 

5 दिसंबर 2022 का ज्ञानप्रसाद : जीजी के जन्म दिवस को लेकर “गायत्री परिवार चैनल” की प्रतिक्रिया 

सप्ताह का प्रथम   दिन सोमवार , ब्रह्मवेला का समय, दिव्य ज्ञानप्रसाद के  वितरण का शुभ अवसर, ऑनलाइन ज्ञानरथ गायत्री परिवार के सहकर्मियों की  चेतना का जागरण, सभी संयोग एक ही ओर  इशारा कर रहे हैं कि आइए हम सब इक्क्ठे होकर, एक परिवार की भांति परम पूज्य गुरुदेव एवं वंदनीय माताजी के श्रीचरणों में बैठ कर  इस दिव्य ज्ञानामृत  का पयपान करें, सत्संग करें,अपने जीवन को उज्जवल बनाए,  दिन का शुभारंभ सूर्य भगवान की प्रथम किरण की ऊर्जावान लालिमा  से करें। ज्ञानपान से अपना एवं  सभी के  मंगल की कामना  करते हुए विश्व शांति के लिए प्रार्थना करें। 

“ॐ सर्वे भवन्तु सुखिनः ।सर्वे सन्तु निरामयाः ।सर्वे भद्राणि पश्यन्तु । मा कश्चित् दुःख भाग्भवेत् ॥ॐ शान्तिः शान्तिः शान्तिः॥”

आज का  स्पेशल ज्ञानप्रसाद लिखने में, एक एक शब्द चयन करने में ,सभी  की भावनाओं का ख्याल रखने में, चिंतन-मनन करने में, इतना समय लग गया कि  ज्ञानप्रसाद सीरीज़ लिखना संभव ही न हो पाया जिसके लिए हम क्षमाप्रार्थी हैं। 

आज का ज्ञानप्रसाद एक बहुत ही स्पेशल विषय से सम्बंधित है जो  पिछले दो दिन से हमारे यूट्यूब चैनल पर पोस्ट हो रहे कमैंट्स   पर आधारित है। प्रकाशित हुए कमैंट्स की बात करना तो आवश्यक  है ही  लेकिन इस बात को करने से पहले यह बात भी करबद्ध, आदरपूर्वक  स्पष्ट करना अति आवश्यक है कि ऑनलाइन ज्ञानरथ गायत्री परिवार ने कभी भी  मानवीय मूल्यों  के साथ समझौता नहीं किया है और न कभी आगे करेगा। निम्लिखित 16 मानीवय मूल्य इस परिवार के प्राण हैं और  एक एक का पालन करने का प्रण हम सब समय-समय पर लेते रहते हैं। यह कोई ऐसी वैसी लिस्ट नहीं है इसका एक एक शब्द हमारे लिए सर्वमान्य है।

शिष्टाचार, आदर, सम्मान, श्रद्धा, समर्पण, सहकारिता, सहानुभूति, सद्भावना, अनुशासन, निष्ठा, विश्वास, आस्था, प्रेम, स्नेह, नियमितता,शालीनता

*************** 

1. हम बात करेंगें  मई 15 ,2021 में आरम्भ हुए  Gayatri Pariwar टाइटल से यूट्यूब चैनल की। सबसे पहले इस चैनल के आदरणीय  संचालक को सम्मान पूर्वक धन्यवाद् करते हैं कि उन्होंने  शनिवार को रिलीज़ हुई वीडियो पर कमेंट किये और हम सबने इस छोटे से संकल्पित  परिवार के प्रति  निष्ठा को कायम रखते हुए ,अपने ज्ञान एवं जानकारी के आधार पर, उपलब्ध तथ्यों के साथ,  रिप्लाई  किये। हम सभी सहकर्मियों का सम्मानपूर्वक धन्यवाद् तो करते ही हैं लेकिन उससे भी बढ़कर Gayatri Pariwar यूट्यूब चैनल का धन्यवाद् करते हैं कि उन्होंने सकारात्मक कमेंट करते हुए निम्लिखित कमेंट से हमारा सबका उत्साहवर्धन किया है।  

Gayatri Pariwar अक्सर लोग आलोचना देखकर या तो उसे दबा देते हैं या अनदेखा करते हैं लेकिन आपने साहस पूर्वक चर्चा को स्वीकार किया इसके लिए आप बधाई के पात्र हैं।

2 .आदरणीय जीजी के जन्म दिवस के लेकर Gaytari Pariwar चैनल द्वारा कई प्रकार की शंकाएं व्यक्त की गयीं। एक तरफ तो  हमने हर प्रकार के उपलब्ध लिखित साहित्य , वीडियोस के प्रमाण प्रस्तुत किये लेकिन दूसरी तरफ पासपोर्ट और शांतिकुंज के परिजनों के रेफरन्स दिए गए जिनका कोई प्रमाण नहीं दिया गया। अगर कोई ऑडियो /वीडियो, लिखित साहित्य ( पुख्ता प्रमाण के साथ ) उपलब्ध हों  तो हम सहर्ष अपनी लिखित बात में संशोधन करके के लिए वचनवद्ध हैं। अगर इस चैनल के संचालक हमारे परिवार के सदस्य हैं ( जैसा उन्होंने अपने पहले ही कमेंट में लिखा है ) तो उन्हें हमारी कार्यप्रणाली और श्रद्धा का पूरा ज्ञान होगा कि हम अपने कार्य से सम्बंधित त्रुटि का जब भी पता चलता है, उसी समय संशोधन करने का प्रयास करते हैं। इसमें साहस वाली  कोई बात नहीं है, केवल श्रद्धा और समर्पण ही सर्वोपरि है। 

अगर सहकर्मी कमेंट करके  गुरु के प्रति एक open प्लेटफॉर्म  में अपनी श्रद्धा व्यक्त कर रहे हैं, समयदान कर रहे हैं, ज्ञानदान कर रहे हैं, अपनी व्यक्तिगत अनुभूतियाँ सार्वजनिक करते हुए अन्य भटके हुए सहकर्मियों को सार्थक मार्गदर्शन प्रदान कर रहे हैं तो सभी धन्यवाद एवं प्रशंसा के पात्र हैं।  “अपने सहकर्मियों की कलम से “  स्पेशल सेगेमेंट ने बहुतों को मार्गदर्शन देते हुए परिवारों में व्याप्त समस्याओं का निवारण किया है।  हमारे लिए तो केवल “जय गुरुदेव” लिख कर हाथ जोड़कर इमोजी लगाने  वाला सहकर्मी भी बहुत  ही सम्मानजनक है। आज के युग में जब हर कोई यही कहे जा रहा है कि “समय किसके पास है “  तो उस सहकर्मी ने  गुरु के लिए कुछ समय तो निकाला। 

3. Gayatri Pariwar चैनल के संचालक जो हमारे ही परिवार के माननीय सदस्य हैं,  हमारा open invitation, खुला निमंत्रण है कि आएं और हमारा  मार्गदर्शन  करें।  अगर “चेतना की शिखर यात्रा” , “महाशक्ति की लोकयात्रा” में प्रकाशित तथ्य मनगढंत हैं  तो हमें ठोस प्रमाण सहित करेक्ट करें, आपकी बड़ी कृपा होगी। 

4.ऑनलाइन ज्ञानरथ गायत्री परिवार का शायद ही कोई सदस्य होगा जो परम पूज्य गुरुदेव एवं वंदनीय माताजी के द्वारा प्राप्त ज्ञान के प्रसार-प्रचार के लिए वचनवद्ध नहीं होगा। उन्हें इस बात से कोई मतलब नहीं है कि संचालन अरुण त्रिखा करें यां Gayatri Pariwar के संचालक। 

तो आपसे निवेदन है कि आइये हमारा साथ दीजिये ,हमारा मार्गदर्शन कीजिये। बहुत कृपा होगी। 

इस चर्चा का समापन  हम आज की संकल्प सूची के साथ करते हैं। 

*********************              

आज की  24 आहुति संकल्प सूची में 12 सहकर्मियों ने संकल्प पूरा किया है और अरुण जी गोल्ड मैडल विजेता हैं।  

(1)रेणु श्रीवास्तव-25,(2)संध्या कुमार-41,(3)अरुण वर्मा-39, (4 ) वंदना कुमार -29, (5 ) प्रेरणा कुमारी- 25,(6 ) सरविन्द कुमार-36, (7 ) सुजाता उपाध्याय-37,(8) सुमनलता-25,(9) पूनम कुमार-33   

सभी को  हमारी व्यक्तिगत एवं परिवार की सामूहिक बधाई।  सभी सहकर्मी अपनी-अपनी समर्था और समय  के अनुसार expectation से ऊपर ही कार्य कर रहे हैं जिन्हें हम हृदय से नमन करते हैं।  जय गुरुदेव

Advertisement

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s



%d bloggers like this: