Life can be difficult with bad health. Learn how to stay healthy today

अपने सहकर्मियों की कलम से -17  सितम्बर 2022 

परम पूज्य गुरुदेव, वंदनीय माता जी के सूक्ष्म संरक्षण और मार्गदर्शन में 17  सितम्बर 2022  शनिवार का “अपने सहकर्मियों की कलम से” का यह लोकप्रिय सेगमेंट आपके चरणों में प्रस्तुत है।  इस सेगमेंट की लोकप्रियता का अनुमान आपके कमैंट्स और कॉउंटर कमेंटस से हो ही जाता है।  आपके सुझाव हमारा मार्गदर्शन  करने में बहुत ही सहायक होते हैं, निवेदन करते हैं इसी प्रकार अपनी सहभागिता का प्रमाण देकर हमारा मनोबल बढ़ाने का कार्य करते  रहें।

ऑनलाइन ज्ञानरथ गायत्री परिवार (OGGP) समर्पित सहयोगियों का एक बहुत ही छोटा सा परिवार है। सप्ताह के चार दिन -सोमवार से गुरुवार तक चार ज्ञानप्रसाद लेख, शुक्रवार को वीडियो, शनिवार को “अपने सहकर्मियों की कलम से”, हर रात्रि एक शुभरात्रि सन्देश, आपके लिए प्रस्तुत किये जाते हैं।  रविवार को बैटरी चार्ज करने के लिए अवकाश होता है। सभी सहकर्मियों के सहयोग और सुझावों की ऊर्जा  से यह परिवार अपनी  गति से गिरते-उठते अपनी यात्रा पर चले  जा रहा है।

अवश्य ही शनिवार वाला यह सेगमेंट सबसे लोकप्रिय होता है क्योंकि इस सेगमेंट में सभी सहकर्मियों की भागीदारी होती है लेकिन बाकी सेग्मेंट्स में भी लोकप्रियता कोई कम नहीं होती। अगर लोकप्रियता का मापदंड आपके कमैंट्स को ही माना जाये तो चाहे लेख हों,वीडियो हों ,ऑडियो हों सभी में आप सब बढ़ चढ़ कर सम्पूर्ण ऊर्जा से सहकारिता दर्शा रहे हैं जिसके लिए आपका बहुत बहुत धन्यवाद् करते हैं ,कृपया इसे स्वीकार करके हमारा उत्साहवर्धन करे।  हाँ अगर कोई कमी रह जाती है तो हमारी तरफ से ही है कि कई बार सभी  सहकर्मियों से संपर्क स्थापित करने में असमर्थ होते हैं, इसका कारण केवल समय का अभाव ही होता है जिसके लिए हम क्षमा प्रार्थी हैं।राजकुमारी बहिन जी ने,जिन्होंने हमें अपना बड़ा भाई माना है, कई बार लिखा है कि आप धन्यवाद् और क्षमा प्रार्थी जैसे शब्द क्यों लिखते हैं। इस के उत्तर में हम तो यही कहना चाहेगें कि हम बिल्कुल ही down-to-earth होकर अपने सहकर्मियों के लिए कुछ भी करने की अभिलाषा रखते हैं।  हमारा यह परम सौभाग्य है कि परम पूज्य गुरुदेव यह पुनीत  कार्य हमसे करवा रहे हैं, इस कार्य से जो प्रसन्नता, जो ऊर्जा  प्राप्त हो रही है शब्दों में वर्णन करना लगभग असंभव ही है।  हर समय परम पूज्य गुरुदेव से यही प्रार्थना करते रहते हैं कि कुछ समय और प्रदान कर दें ताकि हम अपने सहकर्मियों की आशाओं पर उतर पाएं।  लेकिन एक बात हम आपके शेयर करना चाहते हैं कि चाहे हम सभी के साथ संपर्क नहीं कर पाते,लेकिन हर कोई हमारे ह्रदय में सदैव ही रहता है, उनकी कही हुई कोई भी बात कभी भी भूलती नहीं है। हमारी बहुत ही सक्रीय, समर्पित सहकर्मी रेणु श्रीवास्तव जी ने   Niagara Falls पर वीडियो अपलोड करने को सुझाव दिया था लेकिन हम प्रयास कर रहे थे कि इन Falls का आध्यात्मिक पक्ष स्टडी किया जाए।  ऐसा इसलिए था कि Niagara Falls को अक्सर पर्यटन की दृष्टि से देखा गया है और हमारे  चैनल की बैकग्राउंड  ठहरी  आध्यात्मिक, लेकिन इसमें भी परम पूज्य गुरुदेव ने सूक्ष्म मार्गदर्शन दिया और हमारी रिसर्च ने एक ऐसा गूगल लिंक ढूंढ निकाला जो Niagara Falls की आध्यात्मिकता से सम्बंधित है। इस पर हमने कार्य आरम्भ कर दिया है और शीघ्र ही परिणाम आपके समक्ष होंगें।

हमें डर है कि अगर हम इसी तरह लिखते रहे तो आज के इस सबसे लोकप्रिय सेगमेंट में line up की हुई सहकर्मियों की contributions एक तरफ रह जायेंगीं, ऐसा करना हमारे लिए  असहनीय होगा। शब्द सीमा Stop Sign की तरह हमें रोक लेती है और कई  बार आपकी contribution अगले सप्ताह तक स्थगित करनी पड़ती है।

***************

1.इस सप्ताह की सबसे महत्वपूर्ण contribution हमारी बहिन आदरणीय ज्योति गाँधी जी की 13 वर्षीय बेटी सयानी का दुर्भाग्यपूर्ण एक्सीडेंट है। बहिन जी ने बेटी के एक्सीडेंट की बात हमारे समय की अनुसार रात 8 :45 पर शेयर की और हमें उसी समय अपने सहकर्मियों में circulate कर दी। उस समय भारत में प्रातःकाल  का समय था,शायद 7:00-7:15, उसके बाद का आप सबको मालूम ही है। जितना हमें मालूम है ,बहिन जी की दो बेटियां हैं, एक छोटी  आव्या है। बहिन जी इंदौर से हैं, गायत्री परिवार की सक्रीय कार्यकर्ता हैं और बाल संस्कारशाला चलाती हैं।गुरुदेव की शक्ति में अटल विश्वास करती है। बेटी अभी हस्पताल में ही है, रविवार तक डिस्चार्ज की आशा कर रहे हैं।  उनके द्वारा दिया गया एक्सीडेंट का विवरण और OGGP के प्रति उनकी  भावना  उन्ही के शब्दों में निम्नलिखित वर्णित है :

दिनांक 13,सितम्बर 2022  मंगलवार, शाम 4:00, बजे सयानी कोचिंग के लिए घर से रवाना हुई। 4:10 पर मेरे पास फोन आया, कि आपकी बेटी का एक्सीडेंट हो गया। मैं उस वक्त गुरुदेव की पुस्तक पढ़ रही थी। मैं उठी  और तुरंत चल पड़ी। मैंने फिर से जिस नंबर पर फोन आया था, उसी नंबर से फोन किया की एक्सीडेंट किस जगह हुआ। मैं वहां पर ऑटो से निकली, ऑटो वाला मुझे घर के दो कदम आगे खाली ही मिला। मैं तुरंत उस में बैठी और सिंगर चौराहे पहुंची। वहां काफी भीड़ थी, मैं समझ गई एक्सीडेंट यही हुआ। मैं ऑटो से उतर कर भीड़ के पास गई। और अपनी बेटी को देखकर एक पल के लिए घबरा गई ।वह भी मुझे देख कर जोर से रोने लगी। मैंने उसे यही कहा कि बिल्कुल नहीं घबराना गुरुदेव और माता जी तुम्हारे साथ ही है ।वहां खड़े लोगों ने मुझे बताया कि डंपर का पहिया इसके पेट को टच कर गया। डंपर चालक मौके पर भाग गया था। मैंने वहां तुरंत डंपर की वीडियो बनाई। और तीन चार लोगों ने मिलकर मेरी बेटी को ऑटो रिक्शा में बिठाया। और मैं ऑटो रिक्शा लेकर बॉम्बे हॉस्पिटल चली गई। वहां जाकर पता चला है, इसकी राइट शोल्डर और लेफ्ट शोल्डर दोनों में फैक्चर है। जिसमें लेफ्ट शोल्डर की हड्डी टूट चुकी थी ।जिसका 14 तारीख को परम पूज्य गुरुदेव एवं परम आदरणीय माता जी के दिव्य संरक्षण में ऑपरेशन हुआ शाम 4:00 बजे, साथ में अखिल विश्व गायत्री परिवार के सभी आत्मीय जनो की सामूहिक प्रार्थना दुआएं भी थी। जब मेरी बेटी को आईसीयू में ले जाया जा रहा था, तब मुझे रोना आया। और मन ही मन मैंने माता जी से प्रार्थना की कि माता जी आप हि   कहते हैं ना, कि जब मेरे बच्चे मुसीबत में हो तो अपनी मां को याद करें और मैं दौड़ी भागी चली आऊंगी। आज आपकी बेटी आपको याद कर रही हे, मां से प्रार्थना कर रही है। मैंने ऑपरेशन के वक्त मन ही मन गुरुदेव से प्रार्थना की कि गुरुदेव मेरी बेटी का ऑपरेशन आप ही के संरक्षण में हो। और गुरुदेव ने अपनी इस बेटी की पुकार को सुना। और ऑपरेशन सफलतापूर्वक हुआ। ऐसे दिव्य शक्ति जिसके साथ में होती है, वह कैसे निराश हो सकता है। जो असंभव को भी संभव कर दिखाया। उसके बचने की कोई उम्मीद नहीं लग रही थी,  यह गुरुदेव की ही कृपा है, कि जो रेती से बड़ा भरा हुआ डंपर उसके पेट को टच किया, उसके पेट मेंअंदर  एक खरोंच  तक नहीं था। मुझे यही डर सता रहा था, कि उसको अंदर कोई ऐसी चोट ना हो जिससे उसका भविष्य खतरे में हो। लेकिन गुरुदेव ने उसकी रक्षा की ।और उस को नया जीवन दिया। अब मेरी गुरुदेव से एक प्रार्थना और हैं, कि वह अपने इस दिए हुए जीवन को उन्हीं के कार्यों में लगाने की उसको प्रेरणा दें।🙏🙏 

___________

मेरे सभी आत्मीय जनों, विराट देव परिवार को मेरा कोटि-कोटि प्रणाम 🙏🙏परम पूज्य गुरुदेव एवं परम वंदनीय माता जी की कृपा से और आप सभी की प्रार्थना दुआओं से मेरी बेटी बिल्कुल ठीक है। आप सब  बिल्कुल चिंता ना करें मैं पूरे विराट देव परिवार को हृदय से आभार प्रकट करती हूं।🙏🙏🙏 समझ में नहीं आ रहा किन शब्दों में बोलूं कुछ भी नहीं समझ पा रही हूं, मैं कि क्या बोलूं, कैसे बोलूं, कैसे धन्यवाद करूं। आज  यानी कि पूरा विराट परिवार गायत्री परिवार की दुआएं मेरी बेटी के साथ थी।🙏🙏 उसे नया जीवन मिला है। और आज से वह अपने नए जीवन की शुरुआत करेगी आप लोगों की मेहनत दुआओं से🙏🙏🙏 

2.दूसरी कंट्रीब्यूशन आदरणीय राम नारायण कौरव जी की है जो करेली मध्य प्रदेश में अध्यापक हैं । कौरव जी बहिन राजकुमारी जी के पति है और उन्होंने अपनी सर्विस के 24 वर्ष पूर्ण होने पर परम पूज्य गुरुदेव के 24 सुविचार पट्टिका स्कूल को भेंट किये। मध्य प्रदेश की  CM Rise स्कूल योजना में हमारी रूचि होने के कारण कुछ जानकारी प्राप्त करने का प्रयास किया।यह एक बहुत ही अच्छी योजना है, detailed जानकारी ऑनलाइन उपलब्ध है। कौरव भाई साहिब के ही शब्दों में contribute की गयी जानकारी निम्नलिखित है :

उत्कृष्ठ विद्यालय सी एम राइस स्कूल में पदस्थ शिक्षक रामनारायण कौरव ने शासकीय सेवा के 24वर्ष पूर्ण होने पर कार्यरत शासकीय उत्कृष्ट विद्यालय (सी एम राइस)करेली में 24सुविचार पट्टिका, फिलेक्स दीवार पर प्रदर्शन हेतु प्राचार्य श्री संजीव पांडेय जी को भेंट किए,सुविचार फेलेक्स का प्रदर्शन प्रार्थना सभा में विद्यार्थियों के समक्ष किया गया,प्राचार्य द्वारा सभी से अच्छे विचारों से प्रेरणा लेने की बात कहीं,इस दौरान शाला के समस्त शिक्षक ,छात्र मौजूद रहे।  

3.आज की तीसरी और चौथी contributions हमारी सबकी दोनों  बेटियों प्रेरणा और संजना की हैं।  दोनों ने बारी-बारी एक एक घंटा हमसे फ़ोन पर बात की, जब प्रेरणा से बात कर रहे थे तो उसी समय संजना का मैसेज आया था, “क्या आपसे बात हो सकती है ?” प्रेरणा की बात करें तो उसने अपनी  प्रसन्नता शेयर की जो  आप सबके साथ भी शेयर कर रहे हैं।  किसी आयोजन में बेटी ने गुरुदेव का प्रज्ञा गीत गाया और सभी ने बहुत पसंद किया और उत्साहवर्धन किया। देखने में तो यह कोई बड़ी बात नहीं लगती है लेकिन  महत्वपूर्ण बात यह है कि रूचि होने के बावजूद बेटी बहुत देर से अवसर की तलाश में थी और यह उसका पहला अवसर था। हमने  भी उसका उत्साहवर्धन किया और कुछ ऑनलाइन resources बताये जिनसे उसे इस प्रयास में सहायता मिल सकती है।

संजना बेटी को तो परम पूज्य गुरुदेव ने अपना  संरक्षण प्रदान किया है और उसे अपना चरणों में बुला लिया है। इस प्रतिभाशाली बच्ची से गुरुवर ने क्या कुछ करवाना है ,यह तो वही जानते हैं लेकिन इतनी प्रतिभा बहुत ही दुर्लभ है। बेटी के माता  पिता ( पूनम, अशोक जी ) और हम सब बहुत ही सौभाग्यशाली हैं जी हमें ऐसी प्रतिभा मिली। बेटी DSVV में जाकर बहुत ही खुश है। हम सब  परिवारजन  उसे अपना आश्रीवाद देते हैं।  

इन्ही शब्दों के साथ आज का यह स्पेशल सेगमेंट समाप्त करने की आज्ञा लेते हैं। 

*********************

आज की 24 आहुति संकल्प सूची :

आज की संकल्प सूची में 6 सहकर्मियों ने संकल्प पूरा किया है। अरुण  जी 54 पॉइंट्स प्राप्त कर गोल्ड मैडल से सम्मानित किये जाते  हैं। 

(1 )सरविन्द कुमार-24,(2)अरुण वर्मा- 54,(3 )संध्या कुमार-30,(4 ) विदुषी बंता-27,(5 )प्रेरणा कुमारी-27,(6) प्रेमशीला मिश्रा-26,(7)सुजाता उपाध्याय-26,(8) रेणु श्रीवास्तव-34,(9) कुमोदिनी गौरहा-24,(10)निशा भरद्वाज-27,(11) सुमन लता-25,(12)पूनम कुमारी- 29,(13) नीरा त्रिखा -25,(14) अरुण त्रिखा 24      

सभी को  हमारी व्यक्तिगत एवं परिवार की सामूहिक बधाई।  सभी सहकर्मी अपनी-अपनी समर्था और समय  के अनुसार expectation से ऊपर ही कार्य कर रहे हैं जिन्हें हम हृदय से नमन करते हैं, आभार व्यक्त करते हैं और जीवनपर्यन्त ऋणी रहेंगें। जय गुरुदेव,  धन्यवाद।  


Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s



%d bloggers like this: